chappal manufacturing business

आज का टॉपिक हमारा बहुत ही क्लियर और बहुत ही सटीक है ! क्योंकि जिस टॉपिक के बारे में आज हम बात करने वाले हैं ! वह कितना फायदेमंद होने वाला है , कि आपकी लाइफ बदल देगा ! जी हां दोस्तों मैं बात कर रहा हूं चप्पल बनाने के बिजनेस के बारे में , क्योंकि दोस्तों अगर आप एक बेरोजगार हैं या आप कुछ काम कर रहे हैं ! अपना खुद का बिजनेस करना चाहते हैं ! तो आप ये काम स्टार्ट कर सकते हैं !
आज हम बात करेंगे चप्पल बनाने का काम  आप कैसे स्टार्ट कर

सकते हैं !  क्या रॉ मटेरियल लगेगा , कितनी लागत आएगी और कहां से आप ट्रेनिंग लेंगे !

chappal manufacturing business :

अगर आप घर बैठे बिजनेस करना चाह रहे हैं  ! वह बिजनेस जिसमें आपको ढेर सारा प्रॉफिट मिले, तो वह चप्पल बनाने का बिजनेस ( chappal manufacturing business) हो सकता है ! क्योंकि चप्पल एक ऐसा प्रोडक्ट है , जो सभी यूज करते हैं ! आप गांव में रह रहे हो ,शहर में रह रहे हो या मेट्रो शहर में रह रहे हो , कहीं पर भी हो चप्पल आपको पहनना ही पड़ेगा !

चप्पल का का आप उसको बहुत ही छोटी जगह से स्टार्ट कर सकते हैं ! गांव या शहर या अपने घर से और एक छोटी जगह से बेचना स्टार्ट कर सकते हैं ! और इसमें ज्यादा खर्च तो नहीं आता है , लेकिन 1 लाख से 2 लाख के बीच में यह काम आपका स्टार्ट हो जाएगा ! आप बहुत ही आसानी से चप्पलों को एक छोटी सी जगह से बेचना स्टार्ट करें ! जैसे आपका धंधा बढ़ जाए तो आप इसको बड़े स्तर पर भी कर सकते हैं !

कैसे तैयार होती है चप्पल ( chappal manufacturing business) :

चप्पल बनाने ( chappal manufacturing business) का बहुत ही आसान तरीका होता है ! यह काम आप अपने घर से , छोटे कमर्शियल स्पेस से शुरू कर सकते हैं ! इसके लिये आपको दो , तीन मशीनों की जरूरत होती है ! जो की छोटी मशीन होती है ! इसको बनाने के लिए आपको रबर सीट की जरुरत होती है ! आपको जिस नंबर की चप्पल बनानी हो उसी नम्बर के साचे आते हैं , सांचे में आपको रबर सीट रखना होता है और कटिंग मशीन के द्वारा उसको काट दिया जाता है !

मशीन में कटिंग के साथ चप्पल की स्ट्रिप के लिए सुराग भी हो जाता है ! आप ग्राइंडिंग मशीन से चप्पल के खुरदरे पन को दूर कर सकते हैं ! स्ट्रिप को आप इसके नंबर के हिसाब से आप डाल सकते हैं ! बस आपकी चप्पल तैयार हो जाएगी बहुत ही आसान तरीका है !

काम शुरू करने के लिए जरूरी चीजें ( chappal manufacturing business ) :

1 – सोल कटिंग मशीन 70,000 से शुरू
2 -सोल प्रिंटिंग मशीन 20000 से शुरू
3 – ग्राइंडिंग मशीन 8000 से शुरू

तो आप अपने हिसाब से जितना आप का बजट हो , जितना आपके पास पैसा हो उस हिसाब से मशीनें खरीद सकते हैं ! स्टार्टिंग में आप अगर आपके पास ज्यादा पैसा नहीं है तो छोटे मशीनों से ही काम चला सकते है !

रॉ मटेरियल (raw material for chappal manufacturing business ) :

दोस्तों चप्पल बनाने के लिए आपको कुछ ज्यादा रॉ मटेरियल की जरूरत नहीं पड़ती है , सिंपल सी चीजें हैं जैसे कि –
1 – सीट 360 रुपये से 750 रुपये प्रति सीट आपको यह मार्केट में मिल जाएगी
2 – स्ट्रिप या फीता ₹5 प्रति पेयर

कितनी होगी कमाई ( chappal manufacturing business earning ):

दोस्तों कमाई की बात करें – तो आमतौर पर एक चप्पल को तैयार करने में 20 से 30 रुपये की लागत आती है ! अगर आप मार्केट में इनको थोक के भाव बेचते हैं , तो आप आसानी से 40 से 50 रुपये में बेच सकते हैं ! अगर हम बात करें मुनाफे की तो अगर आप सभी खर्चे निकाल दें , पूरी लागत निकाल दें ! तो आपको 10 रुपये का मुनाफा होता है ! अगर आप चप्पल मशीन से बना रहे हैं , तो एक मशीन करीबन 1 घंटे में 40 चप्पल तैयार कर देती है !

अगर हम इस हिसाब से जोड़ें तो दिन के 8 घंटों में करीब 640 जोड़ी चप्पल का प्रोडक्शन हो जाता है ! और अगर आप को एक चप्पल पर 10रुपये मुनाफा हो रहा है , तो 640 रुपए की इनकम होती है ! हफ्ते में प्रोडक्शन के हिसाब से यह मुनाफा 38,400 रुपये बनता है ! अगर हम इसी को महीने में जोड़ें तो 1.5 लाख लगभग बनता है ! लेकिन आपको इतनी कमाई करने के लिए- सबसे पहले कड़ी मेहनत ,लगन की बहुत ज्यादा आवश्यकता होगी , और अपने माल को बेचने के लिए एक बड़ी मार्केट की जरूरत होगी ! और आपके पास पर्याप्त डिमांड हो तो लगभग 1.5 लाख महीने का कमा सकते हैं !

क्या रजिस्ट्रेशन की जरूरत पड़ेगी ( how to register chappal manufacturing business ) :

दोस्तों आपके मन में यह सवाल जरूर होगा , कि अगर हम चप्पल बनाने का बिजनेस ( chappal manufacturing business) स्टार्ट करते हैं ! तो क्या मुझे भारत सरकार से अपने बिजनेस को रजिस्ट्री कराने की जरूरत पड़ती है ! तो दोस्तों अगर हम बात करें छोटे लेवल की अगर आप चप्पल बनाकर खुद ही मार्केट में बेचना चाहते हैं , तो आप स्टार्टिंग बेच सकते हैं आपको रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है !

लेकिन अगर आप यही काम बड़े स्तर पर करना चाह रहे हैं ,तो आपको भारत सरकार से परमिशन लेनी पड़ेगी! मतलब आपको रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा ! आप उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं , इसके अलावा अपने ब्रांड का पंजीकरण भी करना पड़ता है ! साथ में ही आपको ट्रेड लाइसेंस , फर्म का चालू खाता , पैन कार्ड की भी जरूरत पड़ती है ! उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन होने पर आप स्लीपर मैन्युफैक्चरिंग उद्योग के लिए मुद्रा लोन भी हासिल कर सकते हैं! जो कि प्रधानमंत्री के द्वारा मुद्रा लोन स्कीम चलाई जा रही है !

कहां से ले ट्रेनिंग (chappal manufacturing business training ) :

दोस्तों अगर आप चप्पल बनाने का बिजनेस ( chappal manufacturing business) स्टार्ट करना चाह रहे हैं , तो आपको ट्रेनिंग लेना बहुत ही जरूरी है ! यह ट्रेनिंग आप खादी ग्रामोद्योग से भी ले सकते हैं , या आप किसी ऐसे व्यक्ति या फर्म से संपर्क करें जहां यह काम होता है ! तो वहां पर आप यह ट्रेनिंग प्राप्त कर सकते हैं और आपको प्रेक्टिकल ज्ञान भी हो जाएगा !

कैसे काम करना हैकैसे मशीनें लगनी है सारी चीजें आप जान जाएंगे ! अगर आप सरकार के माध्यम से ट्रेनिंग देना चाह रहे हैं , तो आप खादी ग्राम उद्योग की वेबसाइट पर जाकर ज्यादा जानकारी ले सकते हैं ! आप उनसे संपर्क करें आपको वह सब जानकारी दे देंगे !

कहां से खरीदें कच्चा माल ( raw material for chappal manufacturing business ) :

आप दोस्तों बात आती है कि आपको रॉ मेटेरियल या कच्चा माल कहां पर मिलेगा ,तो अगर आप अपने आसपास देखें या पता करें कि यह काम कहां से होता है ! तो आप वहां से जानकारी मिल जाएगी ! जैसे कि मैं आपको बता दूं अगर आप यूपी के रहने वाले हैं , तो आप यूपी में गाजियाबाद , कानपुर से माल खरीद सकते हैं !

अगर आप पंजाब में रहते हैं तो आप लुधियाना से माल खरीद सकते हैं ! दिल्ली, मुंबई ,इंदौर जैसे शहरों में मशीनों और रा मटेरियल की खरीददारी कर सकते हैं ,नहीं तो आप ऑनलाइन भी इसकी खरीदारी कर सकते हैं ! जैसे कि अलीबाबा और इंडिया मार्ट वेबसाइट पर आपको आसानी से मशीन और रॉ मटेरियल मिल जाता है ! और वह आपके घर तक पहुंचाते हैं !

तो दोस्तों आपको यह बिजनेस आइडिया कैसा लगा आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं !

                                             

धन्यवाद

 

Previous Article
Next Article

3 Replies to “chappal manufacturing business”

Leave a Reply

Your email address will not be published.