स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना क्या है

Table of Contents

 स्ट्रीट वेडर 10000 लोन योजना (Street Vendor Loan Scheme ) क्या है ?

केंद्र सरकार द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में स्ट्रीट वेंडर लोन योजना !  (Street Vendor Loan Scheme, 10,000 Rupee Special Credit Scheme) की शुरुआत की है ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में संकट के दौर से गुजर रही!  अर्थव्यवस्था को दुबारा पटरी पर लाने के लिए स्ट्रीट वेंडर स्पेशल क्रेडिट 10,000 लोन योजना की शुरुआत की है!

किसको मिलेगा Street Vendor Loan Scheme का लाभ ?

इस योजना के तहत इस वैश्विक महामारी के समय में संकट के दौर से गुजर रहे ! स्ट्रीट वेंडर्स को सरकार की और से 10,000 तक का लोन दिया जायेगा ! इसे स्पेशल क्रेडिट का भी नाम दिया जा रहा है!  बताते चले की केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ के पैकेज के तहत इस सभी योजनाओ की शुरुआत की जा रही है!  इस लेख में आपको स्ट्रीट वेंडर लोन योजना आवेदन प्रक्रिया! पात्रता मानदंड तथा आवश्यक दस्तावेजों एक बारे में सभी जानकारी प्रदान की जाएगी!

स्ट्रीट वेंडर 10,000 लोन योजना प्रमुख तथ्य

योजना का नाम स्पीएम स्वनिधि लोन योजना
आरम्भ की गई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा
आवेदन प्रारम्भ की तिथि जून माह में
लाभार्थी स्ट्रीट वंडर्स
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में स्ट्रीट वेंडर्स को सहायता
लाभ 10,000 रुपये स्पेशल क्रेडिट लोन
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/

केंद्र सरकार की स्ट्रीट वेंडर लोन योजना का उद्देश्य

आज के समय में देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में देश में लॉक-डाउन की स्थिति बनी हुई हैं!  ऐसे में द्वारा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है!  इस स्थिति में केंद्र सरकार द्वारा अभी हाल ही में 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है!

इसी राहत पैकेज के तहत स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना ! (Street Vendor Loan Scheme) को शुरू किया गया है!  इस योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर्स को इस संकट के समय समय में 10,000 रुपये स्पेशल क्रेडिट कर्ज उपलब्ध कराया जायेगा!  इस कर्ज के माध्यम से वह अपने व्यवसाय को इस संकट के समय से उबरने में सक्षम होंगे!

यह भी पढ़ें : BC सखी योजना क्या हैं,up bc sahki yojana/BC सखी योजना आवेदन-पंजीकरण /महिलायों को मिलेगा 4000 रु महीना

स्ट्रीट वेंडर लोन/कर्ज योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

आप दिए गए!  चरणों के द्वारा ऑनलाइन मोड में स्ट्रीट वेंडर 10,000 रुपये लोन योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं!

  • सबसे पहले आपको केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के लिए शुरु किये गए!  आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा!
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन” के विकल्प पर क्लिक कर देना है!
  • आपके द्वारा विकल्प पर क्लिक किये जाने की स्थिति में!  आपके सामने कंप्यूटर और मोबाइल स्क्रीन पर एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा!
  • इस फॉर्म में आपको सभी पूछी गयी जानकारियों जैसे: – आधार कार्ड नंबर, नाम, पिता का नाम, व्यवसाय आदि!  को दर्ज कर देना है!
  • इसके बाद निर्धारित स्थान में!  सभी आवश्यक दस्तावेजों की अपलोड करके अपने द्वारा दर्ज जानकारी की जांच के पश्चात् ! आप “सबमिट” के बटन पर क्लिक कर दे!
  • इस प्रकार आपका स्ट्रीट वेंडर 10,000 रुपये स्पेशल क्रेडिट लोन योजना के तहत ! ऑनलाइन मोड में रजिस्ट्रेशन पूरा हो जायेगा!

 

नोट: – बताते चले की इस केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा!  इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 20,000 करोड़ के राहत पैकेज के तहत की गयी है!  इस योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया जून महीने से शुरू की जाएगी! हम इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट/पोर्टल के शुरू होने पर उसे अपने इस लेख में अपडेट कर देंगे!

स्ट्रीट वेंडर कौन होते हैं?

स्ट्रीट वेंडर उस व्यक्ति को कहा जाता है !  जो सड़क पर स्टॉल, ठेला लगाकर कुछ बेचता है!  Street Vendors में छोटे मोटे दुकानदार!  रेहड़ी या फुटपाथ समान बेचने वाले लोगो को शामिल किया जाता है!

Street Vendors को 10000 तक का लोन सरकारी योजना के तहत

स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना के लिए पात्रता-

  • 1. भारत देश के स्थायी निवासी!
  • 2. कोरोना संकटकाल में आर्थिक तंगी का सामना करने वाले!
  • 3. स्ट्रीट वेंडर, रेहड़ी,ठेले, फेरीवाले और छोटी मोटी दुकान लगाने वाले दुकानदार!

Street Vendors Loan Scheme 10000 लोन योजना महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • 1. आधार कार्ड
  • 2. स्थायी प्रमाण पत्र
  • 3. बैंक खाता
  • 4. पासपोर्ट साइज फोटो
  • 5.  Registered मोबाइल नंबर

स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना के लाभ-

  • स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना का फायदा देश के स्थायी लोगो को मिलेगा!
  • इस योजना के द्वारा सरकार लाभार्थियों को मिनिमम 2000 से  अधिकतम 10000 रुपए तक का ऋण प्रदान कर रही है!
  • स्ट्रीट वेंडर योजना का लाभ स्ट्रीट वेंडर, रेहड़ी,ठेले, फेरीवाले और छोटी मोटी दुकान लगाने वाले दुकानदारों को मिलेगा!
  • इस योजना से प्राप्त ऋण के द्वारा लाभार्थी ! अपने काम में हुए नुकसान की भरपाई कर पायेगा! और अपने काम को फिर से शुरू कर सकेगा!
  • इससे लाभार्थी की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा!
  • योजना को कोरोना काल में स्ट्रीट वेंडरों के लिए शुरू किया गया है!
  • इसके द्वारा 50 लाख लाभार्थियों को लाभ प्राप्त होगा!
  • इस योजना के तहत जो भी स्ट्रीट वेंडर्स डिजिटल पेमेंट करेगा!  उसे इनाम देकर प्रोत्साहित किया जाएगा। डिजिटल पेमेंट पर एक लाभ यह भी है!  कि आने वाले समय में उन्हें ​कामकाज बढ़ाने के लिए अतिरिक्त धन उपलब्ध कराया जाएगा!
  • लॉकडाउन के इस कठिन समय में यह लोन योजना स्ट्रीट वेंडर्स के लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध होगी!
  • इस योजना के द्वारा रेहड़ी-पटरी, ठेले वालों को आसानी से ऋण मिल सकेगा!  इसके लिए सरकार अगले महीने यानी कि जून में स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना शुरू कर देगी!

 

यह भी पढ़ें : kisan credit card scheme,किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम क्या हैं तथा केसीसी के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

स्ट्रीट वेंडर, रेहड़ी, ठेले वालो को मिलेगा 10,000 का लोन

Street Vendors Loan Yojana 2020– केंद्र सरकार ने स्ट्रीट वेंडर, रेहड़ी, ठेले, छोटी दुकान, फेरीवालों के लिए दस हजार रुपये लोन दे रही है | इस सरकारी योजना की शुरुआत 14 मई 2020 को गई है। इस योजना को स्ट्रीट वेंडर दस हज़ार लोन योजना नाम दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत छोटी-मोटी दुकान चलाने वालों, स्ट्रीट वेंडरो, रेहड़ी, ठेले, फेरीवालों को कार्य करने के लिए दस हज़ार तक का ऋण दिया जाएगा।

इस योजना की घोषणा वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत 20 लाख करोड़ के पैकेज के दूसरे चरण के तहत की है। जिसमें उन्होंने कहा है, कि कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन में सबसे ज्यादा नुकसान Street Vendors को हुआ है। काफी लोग इस lockdown में बेरोजगार भी हो गए है | इस नुकसान से स्ट्रीट वेंडरों को उबारने के लिए दस हज़ार रुपए तक का ऋण इस योजना के तहत दिया जाएगा।

  1. संबंधित प्रश्न उत्तर

    स्ट्रीट वेंडर सहायता योजना की शुरुआत कब की गई?

    इस योजना की घोषणा 14 मई 2020 को की गई है !  आधिकारिक शुरुआत अगले महीने यानी. जून से की जाएगी!

    इस योजना के क्रियान्वयन के लिए सरकार का कितना बजट है?

    सभी लाभार्थियों को मदद मिल पाए इसके लिए सरकार में!  स्ट्रीट वेंडर क्रेडिट योजना के तहत 5000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की है !

    स्ट्रीट वेंडर स्कीम से लगभग कितने लोगों को लाभ मिलेगा?

    माना जा रहा है!  कुल लाभार्थियों की संख्या 50 लाख के करीब है !

    आवेदन प्रक्रिया क्या है?

    आवेदन ऑनलाइन स्वीकार ही जाएंगे!  इच्छुक लाभार्थियों को आधिकारिक पोर्टल पर पंजीकरण कर कर आवेदन करना होगा !

    योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

    आधिकारिक पोर्टल की अभी घोषणा नहीं की गई है !  आशा है जल्द ही है वेबसाइट लॉन्च हो जाएगी !

    Q: What is the Scheme?

    This is a Central Sector Scheme to facilitate street vendors to access affordable working capital loan for resuming their livelihoods activities, after easing of lockdown.

    Q: What is the rationale of the Scheme?

    The COVID-19 pandemic and consequent lockdowns have adversely impacted the livelihoods of street vendors. They usually work with a small capital base, which they might have consumed during the lockdown. Therefore, credit for working capital to street vendors will be helpful to resume their livelihoods.

    Q: What are the objectives of the Scheme?

    (i) To facilitate working capital loan up to `10,000 at subsidized rate of interest;

    (ii) To incentivize regular repayment of loan; and

    (iii) To reward digital transactions.

    Q: What are the salient features of the Scheme?

    (i) Initial working capital of up to `10,000/-

    (ii) Interest subsidy on timely/ early repayment @7%

    (iii) Monthly cash-back incentive on digital transactions(iv) Higher loan eligibility on timely repayment of the first loan.

    Q: Who is the target beneficiary for the Scheme?

    Street vendors/ hawkers vending in urban areas, as on or before March 24, 2020, including the vendors of surrounding peri-urban and rural areas.

    Q: Who is a Street Vendor/hawker?

    Any person engaged in vending of articles, goods, wares, food items or merchandise of daily use or offering services to the public in a street, footpath, pavement etc., from a temporary built up structure or by moving from place to place. The goods supplied by them include vegetables, fruits, ready-to-eat street food, tea, pakodas, breads, eggs, textile, apparel, artisan products, books/ stationary etc. and the services include barber shops, cobblers, pan shops, laundry services etc.

    Q: Which lending institutions will provide credit?

    Scheduled Commercial Banks, Regional Rural Banks, Small Finance Banks, Cooperative Banks, Non-Banking Financial Companies, Micro-Finance Institutions and SHG Banks.

    Q: What is the tenure of the Scheme?

    The Scheme shall be implemented up to March, 2022.

    Q: What is the amount of initial working capital loan?

    The Initial working capital loan is upto `10,000/- for a tenure of one year.

    Q: I have an Identity Card /Certificate of Vending. How can I apply for the loan?

    You can approach a Banking Correspondent (BC)/ Agent of Micro Finance Institution (MFI) in your area (ULBs will have the list of these persons). They will help you in filling up the application and upload the documents in a Mobile App/ Portal.

    Q: How will I know that I am in the surveyed list?

    You can access this information on the website of Ministry of Housing and Urban Affairs.

    Q: My name is in the list of surveyed vendors, but I do not have either Identity Card or Certificate of Vending?

    Can I avail the loan facility? If yes, what is the process ? Yes, you can still avail the Scheme benefits. A Provisional Certificate of Vending would be issued to vendors through an IT based Platform. The BC/ Agent will help you in filling up the application and upload the documents in a mobile App/ Portal.

    Q: I stay in the surrounding rural area and vend in the city. Am I eligible for the Scheme?  If yes, what is the process? or

    Q: I am a vendor from the city but not included in the survey. How can I avail benefits of the Scheme?

    The Scheme is available to vendors of surrounding development/ peri-urban/ rural areas vending in the geographical limits of the cities/ towns and those left out of the survey. If you belong to this category you have to produce one of the following documents to obtain the Letter of Recommendation from ULB/TVC:
    (i) Documents of past loan taken from a bank/ NBFC/ MFI for the purpose of vending; or

    (ii) If you are a member of street vendors’ association like NASVI, NHF, SEWA etc., your membership details; or

    (iii) A ny other documents to prove that you are a vendor; You can also request ULB through a simple application on white paper to conduct local enquiry to ascertain the genuineness of your claim. After receipt of LoR, you may approach BC/ Agent to apply for the loan.

    Q: Who should I contact for grievances?

    In case of any grievance, you may contact the following officer in the Ministry: Director (NULM), Room no.334-C, Ministry of Housing & Urban Affairs, Nirman Bhawan, Maulana Azad Road, New Delhi – 110011 e-Mail: [email protected] Tel: 011-23062850.

     

Previous Article
Next Article

4 Replies to “स्ट्रीट वेंडर 10000 लोन योजना क्या है”

Leave a Reply

Your email address will not be published.